पांच मुखी रुद्राक्ष के फायदे /benefits 5 mukhi rudraksha

by Prabhu Bhakti on March 05, 2023

पांच मुखी रुद्राक्ष / 5 Mukhi Rudraksha 

5 Mukhi Rudraksha में भगवान् शिव के कालाग्रि रूप को कहा गया है इसमें पेंच देवो के वास होने का कारण इसे बहुत ही उच्च स्थान दिया है क्योकि यह रुद्राक्ष को भगवान शिव का प्रिय रुद्राक्ष माना गया हे और इसे धारण करने से हर काम में सफलता मिलती है , यह हमारे आसपास की सारी नकारात्मक ऊर्जा को दूर करता है।  रुद्राक्ष धारण करना  बहुत अच्छा साबित होता है  क्योंकि यह आपकी अपनी ऊर्जा का एक सुरक्षा कवचा बना देता है। 
इस रुद्राक्ष का अधिपति गृह बृहस्पति को माना जाता है और ज्योतिष में यह गृह को सबसे ज्यादा शुभ माना जाता है इसलिए 5 Mukhi Rudraksha को बृहस्पति के नकारत्मक प्रभाव को दूर करने के लिए भी पहना जाता है।

पांच मुखी रुद्राक्ष के फायदे /benefits 5 mukhi rudraksha

  • यह रुद्राक्ष सभी के लिए लाभकारी होता है इसे बच्चे , पुरुष , महिलाये हर ल्कोई धारण कर सकता है।
  • यह व्यकित को आकस्मिक मृत्युं से बचता है। और मृत्यु के डर से भी बचाता है।
  • अगर किसी भी व्यकित के कुंडली में वृहस्पति गृह कमजोर है तो उन्हें 5 Mukhi Rudraksha धारण करना चाहिए
  • यह स्वास्थ्य के काफी अच्छा होता है
  • नींद की समस्या को दूर करता है और मन को शांत रखता है।
  • 5 Mukhi Rudraksha ke fayde यह व्यकित भी है की यह व्यकित को निडर और साहसी बनाता है।
  • पांच मुखी रुद्राक्ष मन और भाग्य का देवता मान जाता है।
  • धन सम्पत्ति के लिए भी 5 मुखी रुद्राक्ष को धारण करने की सलाह दी जाती है।
  • 5 मुखी रुद्राक्ष ज़िन्दगी में चल रही सभी परेशानियों को दूर करता है   

किसे पहनना चाहिए पांच मुखी रुद्राक्ष ? who can wear 5 mukhi rudraksha

5 मुखी रुद्राक्ष उनके लिए काफी अच्छा साबित होता है जिन्हे हमेशा मृत्युं का भय बना रहता है।
अगर वैवाहिक जीवन में परेशानी चल रही हो तो ५ मुखी रुद्राक्ष को धारण करने से सारी परेशानिया खत्म हो जाती है।
यह पेट से समन्धित बीमारियों को भी दूर करता है।
जिनके कुंडली में बृहस्पति कमजोर है उन्हें बृहस्पति ग्रह मजबूत बनाने के लिए ५ मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए।  और  जिनकी याददास्त कमजोर हो उन्हें ५ मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए .

असली 5 मुखी रुद्राक्ष की पहचान/ 5 Mukhi Rudraksha ki asli Pehchaan 

5 Mukhi Rudraksha me में पांच मुख होते है इसलिए जब भी इसे खरीदे तो इसे पानी में ढाल कर देखे अगर यह अपना रंग छोड़ दे तो यह नकली रुद्राक्ष होता है।
दूसरा तरीका यह भी है रुद्राक्ष को सरसों के तेल में रख दें और यदि रुद्राक्ष का रंग उसके रंग से थोड़ा अधिक गहरा दिखाई देने लगे तो वह असली है.

पांच मुखी रुद्राक्ष धारण करने की विधि/ 5 mukhi rudraksha dharan vidhi in hindi

पांच मुखी रुद्राक्ष को स्न्नान आदि करने के बाद ही धारण करें।
पांच मुखी रुद्राक्ष को गंगाजल से साफ कर ले।
5 Mukhi Rudraksha ko Dharan करने से पूर्व 108 बार ऊं ह्रीं नम: मंत्र (5 mukhi rudraksha mantra) का जाप जरूर करना चाहिए। इससे बहुत अधिक लाभ मिलता है।

पांच मुखी रुद्राक्ष की कीमत क्या है ? / 5 mukhi rudraksha price

असली पांच मुखी रुद्राक्ष को आप हमारी Wesbsite  Prabhu Bhakti से Online Buy  कर सकते है।

 

chatboticon

Say Hi and Get Flat 80% Off

×