shani gayatri mantra -भगवान शनि की कुदृस्ति से कैसे बचे

shani mantra


आज हम बात करेंगे शनि गायत्री मंत्र के बारे मे। माँ गायत्री के अंतर्गत आने वाले 24 देवी देवताओ मे से एक भगवान शनि भी है। शनिदेव के विषय मे जब भी बात आती है। यह बात लग जाती है ।कही भगवान शनि की कुदृस्टि हमारे ऊपर तो नहीं पड़ रह

shani mantra


आज हम बात करेंगे शनि गायत्री मंत्र के बारे मे। माँ गायत्री के अंतर्गत आने वाले 24 देवी देवताओ मे से एक भगवान शनि भी है। शनिदेव के विषय मे जब भी बात आती है। यह बात लग जाती है ।कही भगवान शनि की कुदृस्टि हमारे ऊपर तो नहीं पड़ रही है।

shani in 10th house


कुंडली के विषय मे बोला गया है ।शनिदेव की 3 दृस्टिया बताई गयी है । तीसरी दृस्टि बताई गयी है -,३ सरी, 7 वी दृस्टि व् 10 वी दृस्टि।

Effect of Saturn in Tenth House


अगर वह तीनो मे से आपके किसी भी गृह को देख रहे है या किसी भी भाव को देख रहे है । आपको अवस्य समस्या आ रही होगी । जैसे लोग बोलते है मुझे धन की समस्या आ रही है ।शनिदेव धन के भाव को देख रहे होंगे।वह पर जो गृह विराजमान है । उसको देखने के बाद उस गृह का प्रभाव कम कर देता है । शनि की दृस्टि से ब्रह्मा ,विष्णु ,महेश भी नहीं बच पाए है ।

shani gayatri mantra benefits


ऐसे मे शनि गृह को सदैव शांत करने के लिए । केवल दो ही दिन रह जाते है । शनि की पूजा करने के लिए केवल दो दिन मंगलवार व् शनिवार ही बताया गया है। माँ गायत्री के द्वारा हमें इस तरीके का विशेष फल प्राप्त है ।, माँ गायत्री और शनिदेव की कृपा आपको प्रतिदिन प्राप्त हो सकती है । आप प्रतिदिन शनिदेव का गायत्री मंत्र जाप कर सकते है । आइये जाते है यह कोण सा है । इसकी विशेषता है की । इस मंत्र को दो प्रकार से बाटा गया है ।

shani gayatri mantra


पहला मंत्र यह है -
शनि गायत्री मंत्र :-
(अ)ॐ काकध्वजाय विद्महे खड्गहस्ताय धीमहि !

तन्नो मन्दः प्रचोदयात !

shani beej mantra


(ब )ॐ सूर्यपुत्राय विद्महे मृत्युरूपाय धीमहि !

तन्न: सौरि: प्रचोदयात||

shani dasha


दोनों मे बड़ी सरलता से जाप कर सकते है ।किसी के ऊपर शनि की साढे साती चल रही हो । ढैया चल रही हो ।संध्या कालीन मे अगर आप यह मंत्र जाप करते है आपको माँ गायत्री के साथ । भगवान शनि की भी कृपा प्राप्त होगी। शनिदेव की कुद्रस्ती से आप बच पाएंगे।

shani dasha effects and remedies


किसी के ऊपर अगर कोई भी दशा चल रही हो ।साढे सटी चल रही हो हो ।कोई भी महादशा चल रही हो । अंतर दशा चल रही हो । सूछ्म दशा चल रही हो ।प्रांतर दशा रही हो। उसके जीवन मे अगर कोई भी प्रभाव हो शनि का । शनिदेव अच्छा फल प्रदान करेंगे । शनिदेव शांत रहेंगे ।

shani mahadasha effects


आपके जीवन काल मे आपको अच्छा फल प्रदान करेंगे । अगर हो सके हो शाम हो इस मंत्र को जाप करे। अगर आप सुबह करना चाहे हो सुबह भी कर सकते है।

shani ki mahadasha


यह एक गायत्री मंत्र है ।अगर आपके पास समय है एक माला अवस्य करे । इसका विशेष फल आपको देखने को मिलेगा । आप इसको अनुसरण करे । आपको अच्छा फल मिलेगा । शनि गायत्री मंत्र का विशेष फल भी है ।

lakshmi beej mantra- जानिए लक्ष्मी बीज मंत्र क्या है ?

maa lakshmi beej mantra


माँ लक्ष्मी को जल्द से जल्द प्रसन्न करने वाला ये लक्ष्मी बीज मंत्र है । इस मंत्र से माँ लक्ष्मी बहुत प्रसन्न हो जाती है । आपके घर मे कोई भी धन की समस्या नहीं रहती है । व्यक्ति कार्य कर रहा होता है ।उसका फल उसको नहीं मि

maa lakshmi beej mantra


माँ लक्ष्मी को जल्द से जल्द प्रसन्न करने वाला ये लक्ष्मी बीज मंत्र है । इस मंत्र से माँ लक्ष्मी बहुत प्रसन्न हो जाती है । आपके घर मे कोई भी धन की समस्या नहीं रहती है । व्यक्ति कार्य कर रहा होता है ।उसका फल उसको नहीं मिल पाता है । अपना कार्य भी निष्ठापूर्वक करे ।


maa lakshmi beej mantra in hindi


बही कार्यो को करने के साथ धार्मिक कार्यो को करे । अपना काम निष्ठापूर्वक करे । माँ लक्ष्मी आपसे खुश रहेगी। आप माँ लक्ष्मी का ध्यान भी करे ।


mahalaxmi maa


ऐसा करने से आप भगवत प्राप्ति भी कर सकते है । हमारे धरम शास्त्रों मे सब कुछ पहले से लिखा हुआ है । इसका धरम करम का लेखा जोखा है । आपने देखा होगा एक ढोलकी बजने वाली लड़की आपने उद्देस्य से कभी दूर नहीं जाती है ।


maa lakshmi mantra


हर व्यक्ति को आपने मन मे यही संकल्प करते रहना चाहिए । माँ लक्ष्मी के इस मंत्र का जाप करे । पहले आप पवित्रीकरण करे । उसके बाद संकल्प ले ।सदैव हमारे घर मे वास करे । वो मंत्र क्या है ।
Ma lakshmi mantra

ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्मयै नम:॥

mahalaxmi ashtakam

इस मंत्र के जितनी बार जप सकते है । 11 माला जाप करे। इस मंत्र के हर माह के कृष्णा पक्ष के दिन जाप करे । इस दिन महालक्ष्मी की विशेष कृपा भी प्राप्त होगी । नित्य करने से आपके अंदर ऊर्जा का संचार होगा । आपके जीवन मे सुख व् आनंद रहेगा । यह लक्ष्मी बेज मंत्र है ।

gomti chakra puja- जानिए गोमती चक्र पूजा विधि क्या है ?

Maa lakshmi

आज हम बात करेंगे ,चाहे वो धन की समस्या हो या गरीबी की । आप इस उपाय समझे ,अगर आपके जीवन यह सब है । आप मनो इच्छा बहुत करते है । आपकी पूर्ति नहीं होती है ।माँ लक्ष्मी घर मे स्थिर नहीं रहती है।आपका धन खर्च हो जाता है । किसी के अध्यय

Maa lakshmi

आज हम बात करेंगे ,चाहे वो धन की समस्या हो या गरीबी की । आप इस उपाय समझे ,अगर आपके जीवन यह सब है । आप मनो इच्छा बहुत करते है । आपकी पूर्ति नहीं होती है ।माँ लक्ष्मी घर मे स्थिर नहीं रहती है।आपका धन खर्च हो जाता है । किसी के अध्ययन काल मे हो ।आप चाहते नहीं है फिर भी आपका धन रुकता नहीं है।

mahalaxmi puja vidhi

ऐसा धन आपके पास रुकता नहीं है। ये सारी चीजे हमारे घर से जुडी हुए होती है । हमारे घर से अगर नकारात्मक शक्ति घर से चली जाये। ये सारी समस्या ही दूर हो जाये । अगर हम अपने घर पर माँ लक्ष्मी की और विष्णु जी की पूजा कर ले ये सारी समस्या दूर हो जाएगी ।आप अपने मंदिर स्थान पर इनको स्थिर करे। इसका प्रभाव आपको देखने को मिलेगा ।प्रतिदिन इनकी पूजा करे । इनका स्थान करे ।इनके स्नान कराये हुए जल को घर मे छिड़क दे।

padma purana

श्री पदम् पुराण मे स्पस्ट रूप से शालिग्राम जी की महिमा के बारे मे बताया गया है ।ऐसा माना जाता है जो शालिग्राम की पूजा के साथ तुलसी की पूजा करता है । माँ लक्समी की पूजा करता है । वह व्यक्ति के घर मे स्थिर अवस्था मे रहती है। आपको माँ लक्ष्मी के लिए केवल111 दिन तक 11 गोमती चक्र मे लाल चन्दन लगाकर माँ लक्ष्मी को अर्पण करे ।माँ लक्ष्मी के लिए इस मंत्र को करे।

Lakshmi mantra


ॐ ह्रीं श्रीं लक्ष्मीभयो नम:

Lakshmi beej mantra


यह महालक्ष्मी का बीज मंत्र है । इस महालक्ष्मी मंत्र के द्वारा आप 11 गोमती चक्र मा लक्ष्मी को अर्पण करेंगे ।ये आपको 11 दिन तक ही करने है।

Saligramam

जब जब आप शालिग्राम की पूजा करेंगे ।आप मा लक्ष्मी की साथ मे पूजा करेंगे । आप लाल फूल या कमल का फूल ले सकते है । कमल के फूल की महिमा अपार बताई गयी है ।यह किसी दिन से प्रारम्भ कर सकतें है ।यह प्रक्रिया आप किसी भी शुक्ल पक्ष से शुरू कर सकते है ।आप सदैव निरंतर करते रहे। आपकी मनोकामना पूरी होगी ।

gomti chakra puja- जानिए गोमती चक्र पूजा विधि क्या है ?

Maa lakshmi

आज हम बात करेंगे ,चाहे वो धन की समस्या हो या गरीबी की । आप इस उपाय समझे ,अगर आपके जीवन यह सब है । आप मनो इच्छा बहुत करते है । आपकी पूर्ति नहीं होती है ।माँ लक्ष्मी घर मे स्थिर नहीं रहती है।आपका धन खर्च हो जाता है । किसी के अध्यय

Maa lakshmi

आज हम बात करेंगे ,चाहे वो धन की समस्या हो या गरीबी की । आप इस उपाय समझे ,अगर आपके जीवन यह सब है । आप मनो इच्छा बहुत करते है । आपकी पूर्ति नहीं होती है ।माँ लक्ष्मी घर मे स्थिर नहीं रहती है।आपका धन खर्च हो जाता है । किसी के अध्ययन काल मे हो ।आप चाहते नहीं है फिर भी आपका धन रुकता नहीं है।

mahalaxmi puja vidhi

ऐसा धन आपके पास रुकता नहीं है। ये सारी चीजे हमारे घर से जुडी हुए होती है । हमारे घर से अगर नकारात्मक शक्ति घर से चली जाये। ये सारी समस्या ही दूर हो जाये । अगर हम अपने घर पर माँ लक्ष्मी की और विष्णु जी की पूजा कर ले ये सारी समस्या दूर हो जाएगी ।आप अपने मंदिर स्थान पर इनको स्थिर करे। इसका प्रभाव आपको देखने को मिलेगा ।प्रतिदिन इनकी पूजा करे । इनका स्थान करे ।इनके स्नान कराये हुए जल को घर मे छिड़क दे।

padma purana

श्री पदम् पुराण मे स्पस्ट रूप से शालिग्राम जी की महिमा के बारे मे बताया गया है ।ऐसा माना जाता है जो शालिग्राम की पूजा के साथ तुलसी की पूजा करता है । माँ लक्समी की पूजा करता है । वह व्यक्ति के घर मे स्थिर अवस्था मे रहती है। आपको माँ लक्ष्मी के लिए केवल111 दिन तक 11 गोमती चक्र मे लाल चन्दन लगाकर माँ लक्ष्मी को अर्पण करे ।माँ लक्ष्मी के लिए इस मंत्र को करे।

Lakshmi mantra


ॐ ह्रीं श्रीं लक्ष्मीभयो नम:

Lakshmi beej mantra


यह महालक्ष्मी का बीज मंत्र है । इस महालक्ष्मी मंत्र के द्वारा आप 11 गोमती चक्र मा लक्ष्मी को अर्पण करेंगे ।ये आपको 11 दिन तक ही करने है।

Saligramam

जब जब आप शालिग्राम की पूजा करेंगे ।आप मा लक्ष्मी की साथ मे पूजा करेंगे । आप लाल फूल या कमल का फूल ले सकते है । कमल के फूल की महिमा अपार बताई गयी है ।यह किसी दिन से प्रारम्भ कर सकतें है ।यह प्रक्रिया आप किसी भी शुक्ल पक्ष से शुरू कर सकते है ।आप सदैव निरंतर करते रहे। आपकी मनोकामना पूरी होगी ।